बलिया पर मंडरा रहा कोरोना का साया, पड़ोसी जिलों में कोरोना के बढ़ते मामले से प्रशासन हुआ सतर्क


देवरिया को छोड़ गाजीपुर, मऊ व बिहार के सीवान, छपरा, भोजपुर, बक्सर में पॉजीटिव मामला मिलने से बढ़ी बेचैैनी

जनसंदेश न्यूज़
बलिया। बलिया जनपद ग्रीन जोन में है। कोरोना बलिया जनपद से कुछ किमी ही दूर है। गौर करें तो बलिया कुल 07 जनपदो से घिरा हुआ है और खतरे के निशान पर है। बलिया यूपी का देवरिया, गाजीपुर, मऊ तथा बिहार प्रांत का सीवान, छपरा, भोजपुर व बक्सर से सटे है। यूपी के देवरिया को छोड़ सभी जनपदों में कोरोना पाजीटिव मामले पाये गये है। यही कारण है कि बलिया मे खतरा बढ़ गया है। वैसे, जिला प्रशासन ने  सभी सीमा को सील कर दिया है। बार्डर पर जिले के आला अफसर अपनी पैनी निगाह रखे हुए है।
बलिया अभी तक तो पूरी तरह से सुरक्षित है, लेकिन खतरा के नजदीक भी है। यदि लापरवाही में सुरक्षा चक्र टूटा तो बलिया मे खतरा हो सकता है। वैसे, पूरी संभावना है कि लाकडाउन की समय सीमा बढेगी। यदि लॉकडाउन नहीं बढा तो बलिया मे सोशल डिस्टेंस का सीधा उल्लंघन होगा और स्थिति बिगड़ सकती है। बलिया से सटे अन्य जनपदों में कोरोना पाजीटिव मामला मिलने से जिला प्रशासन के साथ ही आमजन की बेचौनी बढ़ गई है। 



बार्डर पर बढ़ी पुलिस की चौकसी
बलिया। अब बलिया को बिहार से खतरा है। क्योंकि बिहार राज्य के मांझी में संक्रमित व्यक्ति मिलने के बाद आस-पास के गाँव के लोग सावधान हो चुके है। वही, बक्सर से सटे यूपी के गाँव में भी लोग पूरी तरह सतर्क है। बक्सर और भरौली में दोनों राज्यों की पुलिस अपने-अपने सीमा पर तैनात है। सीमा पूरी तरह से सील है।
इन जनपदों मे पाये गये कोरोना के मरीज
बलिया। जनपद को अब सात जिलो से खतरा दिख रहा है। देवरिया को छोड़ सभी जनपदो मे कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाये गये है। बिहार राज्य के बक्सर मे कुल संक्रमित 40, सीवान में 30, भोजपुर मे 11, सारण मे 04 तथा यूपी के गाजीपुर में 06, मऊ में 01 मामला है।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल