राशन की कालाबाजारी करने वाले कोटेदार पर गिरी गाज, दुकान निलंबित


खौफ कोटेदार बेच रहा गरीबों का राशन, ग्रामीणों ने पकड़ा

जनसंदेश न्यूज़
चांदमारी। एक तरफ जहां कोरोना की वजह से गरीबों को खाने के लाले पड़े हुए है। उनके घर में एक दाना नही है। सरकार गरीबों को अतिरिक्त राशन उपलब्ध करा रही है ताकि कोई भूखा न रहे। ऐसे में कोटेदार गरोबों का राशन बेच दे तो सरकार के प्रयास का मजाक उड़ाने जैसा मामला हो जाएगा। मंगलवार को गरीबों के राशन की कालाबाजारी करते हुए एक कोटेदार को ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। ये घटना हरहुआ ब्लाक के बेलवरिया ग्राम पंचायत की है। कोटे की दुकान तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दी गयी है।
बेलवरिया में कोटेदार गरीबों के राशन को गाड़ी में लादकर कहीं बेचने जा रहा था। जिसे ग्रामीणों ने पकड़ लिया। गाव में काफी हंगामा हुआ। सप्लाई विभाग को सूचना दी गयी। विकट परिस्थिति को देखते हुए कोटे की दुकान को निलंबित कर दिया। निलंबित दुकान को बगल के गांव नकछेदपुर में अटैच कर दिया। दूसरी तरफ, कोटेदार शमशेर सिंह पटेल ने कहा कि मैंने कोई कालाबाजारी नही की है। वो मेरा गेहूं है। जबकि क्षेत्रीय सप्लाई इंस्पेक्टर ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश के बाद कोटेदार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।



Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

सेक्स पावर बढ़ाती है गोरखमुंडी, जानिए इसके सेवन का तरीका और फायदा

नये साल में इसी माह से काशीवासियों को मिलने लगेगी अनेकों सौगात, पढ़िए