खबर का असर: आकस्मिक निरीक्षण को चिरईगांव ब्लाक मुख्यालय पहुंचे डीडीओ, मिले कई गैरहाजिर


सीडीपीओ, सभी टीए समेत तमाम कर्मचारी थे नदारद, वेतन कटा


‘जनसंदेश टाइम्स’ के समाचार पर रमाकांत तिवारी ने देखी हकीकत

जनसंदेश न्यूज
चिरईगांव। खंड विकास अधिकारी के बदलते ही स्थानीय ब्लाक मुख्यालय की व्यवस्था लड़खड़ा जाने का हाल शनिवार को खुद जिला विकास अधिकारी रमाकांत तिवारी ने अपनी आंखों से ही देख लिया। वह ‘जनसंदेश टाइम्स’ में प्रकाशित समाचार को संज्ञान में लेते हुए हकीकत का पता लगाने पूर्वाह्न औचक मुआयने पर पहुंचे थे। उस दौरान गैरहाजिर तमाम कर्मचारियों का वेतन रोकने का निर्देश दिया।
डीडीओ श्री तिवारी पूर्वाह्न लगभग 10.30 बजे चिरईगांव विकास खंड मुख्यालय पहुंचे तो सबसे पहले उनका सामना परिसर में फैली गंदगी और कूड़े के अंबार से हुआ। उसके बाद उन्होंने सभी पटल पर मौजूद स्टाफ की उपस्थिति का मिलान हाजिरी रजिस्टर से किया। फिर उपस्थिति पंजिका अपने कब्जे में ले लिया। मौके पर मनरेगा से संबंधित सभी तकनीकी सहायक (टीए) अनुपस्थित थे। जबकि फील्ड में रहने वाले टीए को विकास खंड मुख्यालय पहुंचकर हाजिरी रजिस्टर में हस्ताक्षर करने का नियम है।
दूसरी ओर, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग (आईसीडीएस) कार्यालय में लिपिक सत्येंद्र सिंह सिंह को छोड़कर प्रभारी सीडीपीओ प्रेमलता सिंह सहित सभी लिपित व संबंधित कर्मचारी नदारद थे। मौका-मुआयने के दौरान कई कर्मचारी देर से पहुंचे। उन्हें श्री तिवारी ने जमकर फटकार लगायी। उसी क्रम में डीडीओ ने कृषि बीज गोदाम और राजकीय कृषि रक्षा इकाई अनुभाग का निरीक्षण किया। बीज गोदाम का एडीओ एजी गैरहाजिर था।
जिला विकास अधिकारी दोबारा ब्लाक कार्यालय लौटे और ग्राम्य विकास संबंधी रजिस्टरों का निरीक्षण किया। विकास खंड मुख्यालय में फैली गंदगी पर उन्होंने बीडीओ विजय कुमार अस्थाना की क्लास ली। मुआयने के बाद श्री तिवारी ने बताया कि ब्लाक मुख्यालय पर गैरहाजिर पाये गये सभी अफसरों और कर्मचारियों के वेतन रोकने और दस मिनट देर से आने वाले कर्मचारियों से  स्पष्टीकरण तलब किया गया है।
‘जनसंदेश टाइम्स’ ने शनिवार के अपने अंक में चिरईगांव विकास खंड मुख्यालय की स्थिति की खबर ‘बीडीओ बदलते ही ब्लाक का सिस्टम धड़ाम’ शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। उसे गंभीर रूप से संज्ञान में लेते हुए जिला विकास अधिकारी रमाकांत तिवारी ब्लाक मुख्यालय पहुंचे थे। इस विकास खंड में तैनात रहे बीडीओ विक्रमादित्य सिंह मलिक को राजातालाब एसडीएम दायित्व सौंपे जाने के बाद उनके चिरईगांव के हटते ही से ही ब्लाक के अफसर-कर्मचारी मनमाने ढंग से कार्य कर रहे हैं।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल