बनारस में रखे चंदौली के रिकॉर्ड होगें शिफ्ट, वर्षों से मामले लंबित, पेशकार को चार्ज शीट


जिलाधिकारी ने किया कलेक्ट्रेट के कई पटलों का मुआयना


अब अभिलेखों की नकल की फोटो कॉपी का होगा निरीक्षण


सीसीटीवी की निगरानी में दिखाए जाएंगे अभिलेखों के बस्ते

जनसंदेश न्यूज
वाराणसी। डिप्टी कलेक्टर माल के यहां कई प्रकरणों को अनावश्यक रूप से पांच साल से लंबित रखे जाने के आरोप पूर्व पीठासीन अधिकारी एवं पेशकार सदानंद यादव को चार्जशीट दी गयी है। अब पुराने अभिलेखों को टेंपरिंग से बचाने के लिए उनकी नकल की फोटोकॉपी रखी जाएगी। अभिलेखों के बस्तों का निरीक्षण सीसीटीवी कैमरे की जद में होगा। वाराणसी में दशकों से रखे चंदौली जनपद के अभिलेख जल्द ही उस जिले को भेजेंगे।
जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने शनिवार को कलेक्ट्रेट परिसर के विभिन्न अनुभागों का मौका-मुआयना करते हुए यह निर्देश दिये। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर माल कार्यालय में उन्होंने देखा कि पांच साल से अधिक समय से चल रहे कोर्ट केस की कई पत्रावलियों को लंबित रखा गया है। उन प्रकरणों का निस्तारण नहीं किया जा रहा है। इस पर डीएम ने सख्त नाराजगी जताते हुए पूर्व पीठासीन अधिकारी एवं पेशकार सदानंद यादव को चार्जशीट जारी करने का निर्देश दिया।
उन्होंने पांच साल से ऊपर के कोर्ट केस संबंधी फाइलों को पेशकार के भरोसे न छोड़कर स्वयं अधिकतम दस दिनों में निबटाने व फैसला कराने तथा हर हाल में आगामी 31 मार्च तक सभी पेंडिंग केस निस्तारित कराने पर जोर दिया। श्री शर्मा ने गार्ड फाइलों को अपडेट कर पटल संबंधी नये शासनादेशों को रखने सहित कर्मचारियों की सर्विस बुक और जीपीएफ पासबुक अपडेट करने को साथ ही लाइब्रेरी में राजस्व संहिता, भूमि अधिग्रहण आदि से विषयक नयी पुस्तकें रखने तथा उन किताबों को रजिस्टर बनाकर दर्ज करने के निर्देश दिये।



जिलाधिकारी ने भ्रमण के दौरान देखा कि कलेक्ट्रेट भवन की साफ-सफाई, बैठने की व्यवस्था, पटलों से संबंधित पत्रावलियों को वर्षवार रखने और स्लिप चस्पा करके रिकार्ड व्यवस्थित नहीं हैं। उन्होंने संबंधित इंतजामों को दुरुस्त कराने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कर्मचारी को उसके पटल की पूरी जानकारी हो तथा कार्य विभाजन के अनुसार पटल की जिम्मेदारी दी जाय। वसूली रजिस्टर के निरीक्षण में उन्होंने देखा कि स्टांप ड्यूटी की वसूली में 97 लाख और विद्युत की तीन करोड़ 37 लाख 11 हजार रुपये अवशेष हैं। उन्होंने शत-प्रतिशत वसूली मार्च तक कराने को कहा।
मुआयने के दौरान उन्होंने ऑडिट आपत्तियों का निस्तारण कराने के निर्देश दिये। एसीएम से कहा कि प्रत्येक सप्ताह में एक घंटा समय देकर सभी कार्यों की नियमित निगरानी करें और कलेक्ट्रेट व तहसीलों के पटल सहायकों की बैठक कर उन्हें वर्तमान वित्तीय वर्ष के पटल संबंधी कार्य 15 मार्च तक पूर्ण करायें। उन्होंने कलेक्ट्रेट भवन में बिजली के तार व्यवस्थित कराने और पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था के लिए अधिक संख्या में एलईडी बल्ब लगाने का निर्देश दिया। उन्होंने आलमारियों और रैक की डिमांड बनाकर प्रस्तुत करने और टूटे फर्नीचरों की मरम्मत दस दिन के भीतर कराने को कहा।
डीएम ने नकल अनुभाग में बहुत पुराने व जीर्ण-शीर्ण दस्तावेजों की 15 दिनों में फोटोकॉपी कराकर सुरक्षित करने के बाद ही नकल देने के निर्देश दिये। कार्यालय में चौकी की जगह मेज-कुर्सी लगाकर अभिलेखों के बस्ते दिखाने व भीड़ न लगाने तथा यह कार्य सीसीटीवी की निगरानी में कराने को कहा। उन्होंने रिकॉर्ड रुम में चंदौली से संबंधित बस्तों को आगामी पांच मार्च तक चंदौली भेजने तथा अन्य बस्तों को बाहर निकालकर साफ-सफाई कर दोबारा व्यवस्थित ढंग से रखने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी कार्यालयों को इंटरकॉम से जोड़ने और वैक्यूम क्लीनर खरीदने के निर्देश दिये।
 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल