सिविल डिफेंस को बनाएंगे और कारगर, कार्यों की निगरानी के लिए बनेगें व्हाट्सअप ग्रुप


फरवरी माह में गठित करेंगे छोटी-छोटी इकाइयां


समाज के सक्रिय लोगों को जोड़कर देंगे दायित्व


व्हाट्सएप ग्रुप के जरिये कार्यों पर रखेंगे निगरानी


थाना स्तर पर भी सक्रियता बढ़ाने पर दिया जोर

जनसंदेश न्यूज
वाराणसी। नागरिक सुरक्षा विभाग में सेवा कार्यों को और अधिक गति देने के लिए फरवरी माह में विभिन्न स्तर पर बैठकें कर छोटी-छोटी इकाइयां तैयार करेंगे। समाज में सकारात्मक दिशा में सक्रिय लोगों इससे जोड़ा जाएगा। सिविल डिफेंस के कार्यों की निगरानी के लिए व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर रिपोर्ट लेंगे। सदस्यों को थाना स्तर पर भी सक्रियता दिखाते हुए महत्वपूर्ण सूचनाओं का आदान-प्रदान करना होगा। 
कलेक्ट्रेट स्थित जिला रायफल क्लब सभागार में शुक्रवार को हुई बैठक में डीएम तथा नियंत्रक नागरिक सुरक्षा कौशल राज शर्मा ने यह निर्देश दिये हैं। उन्होंने चीफ वार्डन एवं डिविजनल वार्डन से वार्डन सेवा को सक्रिय करने और खाली चल रहे पदों के सापेक्ष योग्य लोगों को सिविल डिफेंस से जोड़ने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा है कि फरवरी माह में सेक्टर व पोस्ट स्तर की बैठकें कर छोटी-छोटी इकाइयों पर बड़ी टीम तैयार हो सकती है। उसकी रिपोर्टिंग व्हाट्सएप ग्रुप पर की जाए। 
यह भी निर्देश दिया है कि थाना स्तर पर भी सदस्य सक्रियता दिखाएं और महत्वपूर्ण सूचनाओं का आदान-प्रदान करें। नागरिक सुरक्षा के सदस्य पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में शामिल हुए जो कि एक अच्छा संकेत है। अन्य कार्यक्रमों में भी नागरिक सुरक्षा के सदस्य हिस्सेदारी कर अपना सामाजिक योगदान दें। मीटिंग में नागरिक सुरक्षा की विभिन्न सेवाओं के ऑफिसर्स कमांडिंग शामिल थे। 
इस मौके पर उप नियंत्रक नीरज मिश्रा ने नागरिक सुरक्षा के उद्देश्यों की जानकारी देते हुए बताया कि युद्धकालीन परिस्थितियों में जन-धन की क्षति कम करते हुए जनता का मनोबल बढ़ाने तथा उत्पादकता बनाए रखने के लिए सन 1962 में सिविल डिफेंस विभाग का गठन सामरिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण जिलों में किया गया था। नागरिक सुरक्षा अधिनियम 1968 द्वारा जिला मजिस्ट्रेट एवं नियंत्रक स्वयंसेवकों की नियुक्ति करते हैं। 
उन्होंने बताया कि नागरिक सुरक्षा संशोधन अधिनियम द्वारा महकमे को आपदा राहत कार्यों से भी विभाग को जोड़ दिया गया। फलस्वरूप महकमे की महत्ता बढ़ गई है। बैठक में एडीएम सिटी एवं प्रभारी नागरिक सुरक्षा विनय कुमार सिंह, चीफ वार्डन विनोद गुप्ता, अधिशासी अभियंता लोनिवि सुग्रीव राम, एसीएमओ डॉ. एके मौर्य, मुख्य अग्निशमन अधिकारी अनिमेष सिंह, एआरटीओ सर्वेश सिंह, डीएलओ दीपक वार्ष्णेय आदि भी थे।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल