प्रमुख सचिव ऊर्जा ने बताया, सूबे में 12 सौ करोड़ के घाटे में बिजली विभाग


समीक्षा के दौरान जताया रोष


45 सौ करोड़ की खरीद रहे बिजली, वसूली सिर्फ 33 सौ करोड़


अपना भविष्य सुरक्षित चाहते हैं तो करें राजस्व की वसूली


मीटर रीडिंग में गड़बड़ी की शिकायत मिली तो सभी पर गिरेगी गाज

जनसंदेश न्यूज 
वाराणसी। विद्युत विभाग बिजली खरीदने में जितनी धनराशि खर्च कर रहा है। उसके सापेक्ष राजस्व वसूली नहीं हो रही है। बीते सिर्फ नवंबर माह में ही राजस्व वसूली में 400 करोड़ रुपये की कमी आयी है। यह स्थिति बेहद चिंताजनक है। मीटर रीडिंग को लेकर किसी प्रकार की गड़बड़ी की शिकायत मिली को एजेंसी से लेकर महकमे के आला अफसर तक कार्रवाई की जद में आएंगे। विभाग की टीमें छापेमारी के दौरान हर हाल में अपना-अपना परिचय-पत्र जरूर रखें। ताकि मौके पर किसी प्रकार के विवाद की स्थिति न बने। 
भिखारीपुर स्थित पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के एमडी कार्यालय में बुधवार को सूबे के प्रमुख सचिव ऊर्जा एवं उत्तर प्रदेश पावर कार्पाेरेशन के अध्यक्ष अरविंद कुमार ने विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान यह तेवर दिखाए। इस मौके पर एसडीओ से लेकर तमाम उच्चाधिकारी मौजूद थे। श्री कुमार ने नाराजगी जताते हुए कहा कि प्रदेश में बिजली खरीदने के लिए 45 सौ करोड़ रुपये खर्च किया जाता है लेकिन उसकी तुलना में राजस्व वसूली सिर्फ 33 सौ करोड़ रुपये ही हो पाती है। मात्र बिजली खरीद में ही 12 सौ करोड़ रुपये की का घाटा हो रहा है। यह बेहद खराब स्थिति है। 
उन्होंने कहा कि प्रत्येक माह विद्युत विभाग वेतन के मद पर 280 करोड़ रुपये खर्च करता है। जबकि सिर्फ हाल के आंकड़ों को देखें तो महकमे के कर्मचारियों के आंदोलनों के चलते राजस्व वसूली में 400 करोड़ रुपये की कमी आयी है। 4.50 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली खरीदने के बाद 3.21 रुपये के रेट से ही वसूली हो पा रही है। प्रमुख सचिव ने सख्त अंदाज में चेतावनी दी कि सभी एसडीओ यदि अपना भविष्य सुरक्षित रखना चाहते राजस्व वसूली में कमी न आने दें। 
उन्होंने कहा कि सन 2018 में विभाग का थ्रु रेट 4.99 रुपये था और बीते दिसंबर यह 5.19 रुपये रहा। थ्रु रेट मे गिरावट किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने लाइन लॉस के मामले में ग्रामीण विद्युत वितरण खंड-द्वितीय के जिम्मेदार अफसरों की जमकर क्लास ली। बैठक में एमडी के बालाजी, निदेश्क वित्त सुधीर आर्य, अनिल कोहली आदि की प्रमुख उपस्थिति रही।


 


Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

नलकूप के नाली पर पीडब्लूडी विभाग ने किया अतिक्रमण, सड़क निर्माण में धांधली की सूचना मिलते ही जांच करने पहुंचे सीडीओ, जमकर लगाई फटकार

चकिया में देवर ने भाभी के लाखों के गहने और नगदी उड़ाये, आईपीएल में सट्टे व गलत आदतों में किया खर्च, एएसपी ने किया खुलासा