जनसंदेश की खबर पर टूटी अधिकारियों की नींद, छितौनी में कैद पशु नगर निगम की गौशाला में शिफ्ट


एक बाउंड्री के भीतर बंद कर दिये गये गोवंशों की हो रही थी उपेक्षा

जनसंदेश न्यूज
चिरईगांव। स्थानीय विकास खंड के छितौनी में कैद गोवंशों की दुर्दशा की खबर पर अफसरों की नींट टूटी है। प्रकरण में बीडीओ विक्रमादित्य सिंह मलिक ने न सिर्फ उन पशुओं की देखभाल के लिए कर्मचारियों को सक्रिय किया बल्कि कैद पशुओं को नगर निगम की गौशाला में शिफ्ट कराने की पहल भी की।
छितौनी में कैद किये गये पशुओं की दुर्दशा के बारे में ‘जनसंदेश टाइम्स’ ने शुक्रवार के अंक में प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी। यह समाचार पढ़ने के बाद अधिकारी हरकत में आये। उस खबर का असर यह रहा कि छितौनी गांव में निजी बाउंड्री में कैद 33 गोवंशों को बीडीओ श्री मलिक ने नगर निगम के गोवंश आश्रय स्थल पर स्थआनांतरित कराना आरंभ किया। ब्लाक के पशु चिकित्साधिकारी डॉ. आरए चौधरी ने बताया कि शुक्रवार को नगर निगम के सचल पशु वाहन से 18 गोवंशों को नगर निगम गौशाला में भेजा गया। शेष 15 गोवंशों को भी जल्द ही शिफ्ट करा देंगे। उन्होंने बताया कि अभी एक-दो पशु बीमार हैं और उनका इलाज चल रहा है।
बीते डेढ़ माह से छितौनी के किसानों ने फसलों को बचाने के लिए गांव की एक निजी चहारदीवारी के भीतर 43 पशुओं को कैद कर दिया था। उनमें से दस गोवंशों ने भूख-प्यास और ठंड के कारण दम तोड़ दिया। शेष पशुओं की भी उपेक्षा हो रही थी।



बेअसर दिख रही जिलाधिकारी फटकार
चिरईगांव। स्थानीय ब्लाक में प्रस्तावित दर्जनभर गोवंश आश्रय स्थलों के निर्माण का कार्य धीमी गति से चल रहा है। विकास खंड के सिर्फ छाही और मोकलपुर में ही आश्रय स्थल बनाया जा रहा है। जबकि प्रस्तावित आश्रय स्थलों को जल्द से जल्द पूर्ण कराने के निर्देश हैं। 
बीते कई महीनों से छाही ग्राम पंचायत में कछुआ चाल से 50 पशुओं की क्षमता का गोवंश आश्रय स्थल निर्माणाधीन है। इस कार्य में लेटलतीफी देखते हुए जिलाधिकारी ने तत्कालीन बीडीओ विजय कुमार अस्थाना की जमकर क्लास भी ली थी। उसके बावजूद कार्य में तेजी नहीं आयी। दूसरी ओर, मोकलपुर में बन रहे गोवंश आश्रय स्थल का जायजा लेने बीते 18 जनवरी को पहुंचे खंड विकास अधिकारी विक्रमादित्य सिंह मलिक ने संबंधित कर्मचारियों को सात दिन का अल्टीमेटम देते चेतावनी भी दी थी। उसके बावजूद मोकलपुर का आश्रय स्थल अबतक बनकर तैयार नहीं हो सका है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल