24 बच्चों को बंधक बनाने वाले को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया, भीड़ ने उसकी पत्नी को पीट-पीट कर उतारा मौत के घाट


बंधक बनाये गए सभी बच्चे सकुशल बचाये गए



जनसंदेश न्यूज़
फर्रुखाबाद। बेटी के जन्मदिन का बहाना बनाकर 24 बच्चों को घर में बंधक बनाने वाले सिरफिरे सुभाष बाथम को पुलिस ने देर रात मुठभेड़ में मौत के घाट उतार दिया। लेकिन उसके इस कृत्य की सजा उसके पत्नी को भी भुगतना पड़ा। भीड़ ने उसकी पत्नी रूबी को जमकर पीटा। जिसके बाद उसे गंभीर अवस्था में चिकित्सालय पहुंचाया गया। जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने सभी बच्चों को सकुशल बाहर निकाल लिया।



यूपी के फर्रुखाबाद जिले के करथिया में गुरूवार की देर शाम सिरफिरे ने 24 बच्चों को घर बुलाकर बंधक बना लिया। जिसके बाद जनपद सहित यूपी में हड़कंप मच गया। एक तरफ जहां बच्चों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया था। वहीं दूसरी तरफ बचाने पहुंची पुलिस पर युवक ने हथगोला फेंक दिया, जिससे तीन पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए। युवक ने अपने दोस्त पर भी फायरिंग कर घायल कर दिया। 
देर रात तक चले लंबे जद्दोजहद के बाद पुलिस ने सिरफिरे को नौ घंटे बाद मुठभेड़ में मार गिराया और बेसमेंट में रखे गए सभी बच्चे सकुशल रात एक बजे निकाल लिए। जिसके बाद भीड़ बेकाबू हो गई और उसने उसकी पत्नी रूबी को भी जमकर पीट दिया। 



घायलावस्था में रूबी को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया था। इमरजेंसी डॉक्टर सर्वेश यादव ने बताया रूबी के गंभीर हेड इंजरी के अलावा शरीर पर तीन चोटें थीं। गंभीर हालत में सुबह छह बजे सैफई के लिए रेफर किया गया था, लेकिन उसने दम तोड़ दिया। 
कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि भीड़ के हाथों पिटाई से घायल महिला को बचाने का प्रयास किया गया। उसे फौरन इलाज के लिए भेजा गया, लेकिन अस्पताल में उसकी मौत हो गई। पोस्टमॉर्टम से साफ होगा कि महिला की मौत कैसे हुई है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल