योगी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया, पीड़िता का शव रात में क्यों जलाया? यह था कारण


जनसंदेश न्यूज़
लखनऊ। हाथरस कांड (Hathras scandal) की पीड़िता का रात के अंधेरे में अंतिम संस्कार किये जाने पर चारों तरफ से घिरी यूपी सरकार ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट (SC) में अपना पक्ष रखा और यह बताया कि पीड़िता का अंतिम संस्कार आखिर रात में क्यों किया गया। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में हाथरस दुष्कर्म और हत्या की सीबीआई (CBI) या एसआईटी (SIT) से जांच कराने की मांग की जनहित याचिका पर सुनवाई थी। 


बीते मंगलवार की रात पीड़िता का अंतिम संस्कार किये जाने को लेकर सफाई देते हुए यूपी सरकार ने बताया कि हाथरस जिला प्रशासन ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल एफिडेविट में दावा किया है कि जिला को बड़ी हिंसा से बचाने के लिए मृत युवती के माता-पिता को रात में अंतिम संस्कार करने के लिए मना लिया। 


जिला प्रशासन ने सुप्रीम कोर्ट को अवगत कराया कि खुफिया रिपोर्ट मिली थी कि वहां पर लाखों लोग एकत्र होंगे, जिससे बड़े बवाल की संभावना थी। यह लोग वहां पर इस प्रकरण को जाति के साथ सांप्रदायिक रंग दे सकते थे। उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से आग्रह किया कि वह हाथरस केस की सीबीआई जांच (CBI investigation) की निगरानी करे। यूपी सरकार ने कोर्ट को बताया कि हाथरस मामले के बहाने सोशल मीडिया (Social Media), प्रिंट मीडिया (Print Media) और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया (Electronic Media) पर यूपी सरकार को बदनाम करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है।


Popular posts from this blog

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी

1.5 करोड़ लेकर पत्नी ने किया पति का सौदा, किया प्रेमिका के हवाले

मेरी करनी का फल है लिखकर महिला दरोगा ने फंदे पर झूलकर दी जान