मोहना थाने की पुलिस पर लगा घर मे घुसकर अभद्रता करने का आरोप


सिद्धार्थनगर। जिले की मोहना थाने की पुलिस पर लगा घर मे घुसकर परिवार के साथ अभद्रता करने का आरोप। जिले की मोहाना थाने की पुलिस पर  एक पत्रकार के द्वारा उसके घर बर्डपुर नंबर 10 टोला शिवकोट  में 1 अक्टूबर  की शाम 7:00 बजे पहुंचकर परिवार के साथ अभद्रता करने का आरोप लगाया गया है।  पीड़ित जावेद अहमद दिए गए शिकायती पत्र द्वारा बताया गया है कि, मुहाना पुलिस ने उक्त कार्यवाही इम्तियाज की पत्नी द्वारा 28 सितंबर 2020 को आईजी बस्ती परिक्षेत्र को  दिए गए शिकायती प्रार्थना पत्र तथा  न्यायालय जिला जज सिद्धार्थनगर पर इम्तियाज आदि की एंटीसिपेटरी जमानत की दरखास्त पडने के बाद नाराजगी में की  है। मुहाना पुलिस यह जानती थी कि घर पर कोई पुरुष सदस्य नहीं है, इसके बावजूद  पुलिस बल के साथ घर पर धावा बोलकर बर्बरता पूर्ण कार्यवाही करके महिलाओं का उत्पीड़न एवं उन्हें भयभीत किया गया।उनके साथ बदसलूकी और मारपीट किया।


कमरे तथा बक्सो की तलाशी ली गयी। शिकायत करता द्वारा आगे कहा गया है कि सामान को नष्ट किया गया।दरवाजा तोड़ा गया कुंडी उखाड़ के उठा ले गए। पूरे गांव में पुलिस आतंक का वातावरण बन चुका है। एक पत्रकार और उसके परिवार की समाज में मान प्रतिष्ठा नष्ट करने का नियोजित  प्रयास किया गया। घटना 8 अगस्त 2020 की है। यह मामला इम्तियाज और उनके दो भाई के बेटों के साथ पट्टीदार मन्नान की कहासुनी हो गई जब इम्तियाज अहमद उनके साथ समाधान वार्ता कर रहे थे, तभी उनके घर के और रिश्तेदार लाठी डंडे के साथ वहां हमलावर हो गए।


लड़के जावेद को चोट लगने के बाद बेहोश देख इम्तियाज अहमद जिला अस्पताल लेकर भागे और वहां भर्ती करा के उपचार कराया तथा वही चोटों का मुआयना किया गया। जबकि मन्नान और उनकी पत्नी की चोटों का मुआयना मुहाना पुलिस ने एक दिन बाद 9/8 /2020 को करा कर एक तरफा एफ आई आर  धारा 147, 323, 504, 506, 452, 308, 269, 270,महामारी अधिनियम3, आपदा प्रबंधन अधिनियम 51ई, अपराध संख्या 0161/2020 बढ़ा चढ़ा कर लिखा तथा घटना में निर्दोष इम्तियाज व उनके अन्य भाई भतीजे जो बाहर थे, उन्हें नामजद अभियुक्त बना कर घर भर को फंसा दिया। जब इम्तियाज का लड़का जावेद अपने दो भाइयों को साथ लेकर मुहाना थाने पर अपना मुकदमा लिखाने पहुंचा तो प्रभारी निरीक्षक ने तहरीर लेकर उनके साथ अभद्रता पूर्ण व्यवहार किया तथा जेल भेज दिया। मुकदमा नहीं लिखा। जबकि जावेद की चोटों का मायना घटना के दिन का था।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल