बनारस में एनसीबी की बड़ी कार्रवाई, घाट किनारे 57 लाख हेरोइन खपाने की थी तैयारी, दो गिरफ्तार 

नारकोटिक्स टीम के हत्थे चढ़े दो हेरोइन तस्कर 



रवि प्रकाश सिंह
वाराणसी। नारकोटिक्स (एनसीबी) की टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी। मादक पादार्थ हेरोइन की तस्करी में लिप्त दो लोगों को मकबूल आलम रोड से नारकोटिक्स इंस्पेक्टर केके श्रीवास्तव की टीम ने गिरफ्तार किया। हेरोइन की कीमत 57 लाख आंकी गई। दोनों को आगे की कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया गया है। 


उप नारकोटिक्स कमिश्नर केके सिंह के दिशा निर्देश पर जारी इस कार्रवाई में कई और तस्करों की गिरफ्तारी तय मानी जा रही है। इसके लिए टीम दबिश दे रही है। केके श्रीवास्तव ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर शनिवार को सोनू चौहान निवासी नई बस्ती पांडेयपुर और मनोज गुप्ता निवासी सप्तसागर मंडी को इंडियन पेट्रोल पंप मकबूल आलम रोड से गिरफ्तार किया गया। तलाश में दोनों के पास से 0.570 किलो ग्राम हेरोइन बरामद हुई। 



पूछताछ में दोनों ने बताया कि हेरोइन को अस्सीघाट के आसपास किसी को सप्लाई करनी थी। मकबूल आलम रोड पर उक्त व्यक्ति का दोनों इंतजार कर रहे थे। जिस व्यक्ति को हेरोइन सप्लाई करनी थी उसे गिरफ्तार करने के लिए नारकोटिक्स की टीम ने रविवार को दबिश दी। घाट किनारे मादक पादार्थ हेरोइन की सप्लाई इस बात की ओर इशारा कर रही है कि घाटों पर इसका सेवन करने वालों की तादात है। 


इसके पहले भी घाट के आसपास से प्रतिबंधित मादक पादार्थ का सेवन करने वालों को पकड़ा जा चुका है। देशी और विदेशियों के नशे का सॉफ्ट अड्डा बनारस के घाट है। यहीं लेनदेन समेत अन्य डील फाइनल की जाती हैं। लेकिन सवाल उठता है कि लॉकडाउन की वजह से इन दिनों विदेशियों या बाहरियों का आवागमन शहर में कम है। बावजूद आधा किलो से ज्यादा का मादक पादार्थ किसी और कहां खपाने की तैयार थी। हालांकि हेरोइन जिसे सप्लाई के लिए जानी थी उसके गिरफ्तारी के लिए टीम पीछे लग चुकी है। 


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल