बनारस में कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए कांग्रेस ने की निजी अस्पतालों के अस्थायी अधिग्रहण की मांग

- कांग्रेस कार्यालय में पं. कमलापति त्रिपाठी फाउंडेशन की ओर से आयोजन


- कोरोना के लगातार बढ़ते रोगियों को लेकर जतायी चिंता


- निजी अस्पतालों में सरकारी खर्च पर कोविड के इलाज की सुविधाएं देने की मांग

जनसंदेश न्यूज
वाराणसी। पं. कमलापति त्रिपाठी फाउंडेशन की ओर से कांग्रेस के इंग्लिसिया लाइन स्थित कार्यालय में चल रही संगोष्ठी श्रृंखला में मंगलवार को वक्ताओं ने जनपद में कोरोना पीड़ित मरीजों के इलाज की दयनीय हालत से जुड़ी खबरों पर गहरी चिन्ता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि इस बारे में उपज रहे व्यापक जनअविश्वास के वातावरण को विश्वास की दिशा में बदलने के लिये शासन-प्रशासन को गम्भीरता से प्रयास करना चाहिये। कार्यक्रम में कई लोगों ने ऑनलाइन भी हिस्सेदारी की। उन्होंने कहा कि कोरोना के बेतहाशा बढ़ रहे मरीजों के दबाव के बीच समाज में हो रही चर्चा से लगता है कि लोग कोरोना से ज्यादा उपचार की दयनीय स्थिति को लेकर भयाक्रांत हैं। 
इस दिशा में जनप्रतिनिधियों और प्रशासन को तत्काल गंभीर व कड़े कदम उठाना चाहिये। ट्रस्टों के अस्पताल यदि अन्य उपचार के लिये पुनर्जीवित करने की कोशिशें हो रही हैं तो लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों के लिये निजी अस्पतालों का अस्थायी अधिग्रहण करने पर विचार किया जा सकता है। ताकि वहां सरकारी अस्पताल के व्यय मानकों के अनुरूप इलाज का बंदोबस्त हो। सामान्य व्यक्ति को इलाज का और अधिक ढांचा सुलभ हो।
वक्ताओं ने कहा कि तमाम समर्थ परिवार इलाज के लिये दिल्ली और गुड़गांव आदि जा रहे हैं लेकिन आम आदमी तो सरकार के भरोसे ही है। ऐसे में केन्द्र और राज्य सरकार से बड़े दायित्व  की उम्मीद निर्वाह की पहल की उम्मीद लोगों को है।
संगोष्ठी में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व उपाध्यक्ष विजय शंकर पान्डेय, प्रो. श्रीनिवास, प्रो. हरिशंकर पान्डेय, प्रो. रमाकांत पांडेय. प्रो. रवि शंकर पान्डेय, डॉ. उमापति उपाध्याय ने आनलाईन  चर्चा में विचार रखे। जबकि गोष्ठी में बैजनाथ सिंह, शैलेन्द्र सिंह, राकेश चन्द्र शर्मा, प्रमोद श्रीवास्तव, विजय शंकर मेहता, भूपेन्द्र प्रताप सिंह , विनोद कुमार सिंह कल्लू, हरीश मिश्रा, पुनीत मिश्रा, धीरज शुक्ला, सुभाष राम, कुंवर यादव, शुभम राम आदि उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल